कैसे करें ग्राहक अपने हक की मांग

0
कैसे करें ग्राहक अपने हक की मांग

 

भोपाल में अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत प्रांतीय कार्यशाला का आयोजन नवनिर्वाचित प्रांतीय कार्यकारिणी को कार्य पद्धति से अवगत कराने के लिए किया गया।

अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत भारत में ग्राहकों को उपभोक्ताओं को अपने अधिकारों कानूनी ज्ञान एवं सामग्री में होने वाले लाभों को लेकर जागरूक करती है। यहां संगठन ग्राहकों को सामग्री बाजार से खरीदते समय किन महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए, जिससे उन्हें संपूर्ण लाभ मिल सके एवं खरीदी हुई सामग्री से हमारी सरकार को भी कोई नुकसान ना हो इन बातों से ग्राहक पंचायत उपभोक्ता को अवगत कराने का कार्य कर रही है।

साथ ही यदि किसी उपभोक्ता के साथ कोई भी तरीके का धोखाधड़ी फरेब विक्रेता द्वारा किया गया है तो उस फरेब की कानूनी कार्रवाई वहां उपभोक्ता किस तरह से कर सकता है एवं अपने हक की लड़ाई किस तरह से एक उपभोक्ता लड़ सकता है उसके बारे में भी यहां संगठन उपभोक्ता को अवगत कराता है एवं उनका सहयोग करता है।

भोपाल में अखिल भारतीय ग्राहक पंचायत कार्यालय में प्रांत कार्यशाला का आयोजन किया गया कार्यक्रम की शुरुआत ग्राहक गीत एवं मंत्र के साथ की गई।

 

कार्यक्रम में मुख्यरूप से आशा सिंह केंद्रीय महिला जागरण प्रमुख, नीलम जगदीश गुप्ता जिला सह संयोजिका, निवेदिता चतुर्वेदी बाल आयोग के सदस्य, अनिला जगत केंद्रीय पर्यावरण प्रमुख, लोकेंद्र मिश्रा प्रांत सचिव, मोनिका जैन एडवोकेट मध्य भारत प्रांत अध्यक्ष भारत तिब्बत सहयोग मंच, सरिता शर्मा जिला अध्यक्ष भोपाल, प्रतिमा हरित सह सचिव, मनीषा चंद्रवंशी, अंजुला सोनी, सुधा बैस जिला सह सचिव।

 

उपस्थित अतिथियों के सानिध्य में स्वरोजगार से कार्य कर रही महिलाओं का सम्मान किया गया जिसमें वैशाली बारी, संजना श्रीमाली, निशा सिंह ,नीतू सेंगर, मनीषा चंद्रवंशी का सम्मान किया गया।

 

मुख्य वक्ता लोकेंद्र मिश्रा ने अपने उद्बोधन मैं बताया कि पहला मध्य भारत प्रांत का कार्यशाला भोपाल में आयोजित हुआ है इस संगठन की स्थापना 1974 के दशक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के द्वितीय प्रचारक दत्तोपंत ठेंगड़ी ने की थी। संगठन का उद्देश ग्राहकों को जागरूक करने शोषण से बचाना है

 

निवेदिता चतुर्वेदी मैं अपने उद्बोधन में बताया कि संघ का उद्देश्य सिर्फ ग्राहक को जागरूक करना नहीं है बल्कि ग्राहक की जागरूकता से देश को क्या लाभ होगा और कैसे यहां देखना भी होता है क्योंकि जिस तरह की स्थिति श्रीलंका और पाकिस्तान में आज उपस्थित हो चुकी है इस स्थिति से बचने के लिए हमें अपने देश के ग्राहकों को जागरूक करना आवश्यक है इसके साथ ही आगे कहते हुए उन्होंने बताया कि हमारे भारत देश से भारत रतन मदर टेरेसा जी को मिला जिन्होंने एक अनुकूल परिस्थितियों में शिक्षा देने का कार्य किया था।परंतु सावित्रीबाई फूले जिन्होंने प्रतिकूल परिस्थितियों में प्रथम शिक्षा देने का कार्य किया जब शिक्षा के क्षेत्र में बच्चों को शिक्षा नहीं दी जाती थी ऐसी स्थितियों में शिक्षा दी, उन्हें हमारे देश से कोई भी सम्मान नहीं मिला। हमारे भारत देश की कमियों में से एक कमी यहां है कि ,वहां हमारे भारत देश के मूल अपनाने वाले लोगों को सम्मान का पात्र नहीं बनाते।

 

अनिला जगत ने अपने उद्बोधन में बताया कि सनातन धर्म में प्रत्येक पेड़ का अपना महत्व होता है जो बातें हमारे सनातन धर्म में कई वर्षों पहले बताई गई वह बातें आज तक नासा वाले अपने शोधन में बता रहे हैं

 

अंतिम आभार आशा सिंह ने देते हुए कहा ग्राहक पंचायत ग्राहकों को जागरूक कर उनके हित के लिए कार्य करती है

 

कार्यक्रम में मुख्यरूप से आशा सिंह केंद्रीय महिला जागरण प्रमुख, नीलम जगदीश गुप्ता जिला सह संयोजिका, निवेदिता चतुर्वेदी बाल आयोग के सदस्य, अनिला जगत केंद्रीय पर्यावरण प्रमुख, लोकेंद्र मिश्रा प्रांत सचिव, मोनिका जैन एडवोकेट मध्य भारत प्रांत अध्यक्ष भारत तिब्बत सहयोग मंच, सरिता शर्मा जिला अध्यक्ष भोपाल, प्रतिमा हरित सह सचिव, मनीषा चंद्रवंशी, अंजुला सोनी, सुधा बैस जिला सह सचिव।

 

उपस्थित अतिथियों के सानिध्य में स्वरोजगार से कार्य कर रही महिलाओं का सम्मान किया गया जिसमें वैशाली बारी, संजना श्रीमाली, निशा सिंह ,नीतू सेंगर, मनीषा चंद्रवंशी का सम्मान किया गया।

 

एक संगठन तभी सशक्त बनता है जब उसका कार्यकर्ता पूर्ण निष्ठा से कार्य करता है

 

संघ के कार्यकर्ता की पहचान,

 

पैरों में चक्र,मुंह में शक्कर,

दिल में आग,दिमाग में शांति

 

 

 

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *