आस का प्रयास मील का पत्थर साबित होगा-ललित गर्ग

0

आस का प्रयास आगे आने वाले समय में दिव्यांगो,मूक बधिरों व बेसहारा लोगों की सेवा करने में मील का पत्थर साबित होगा,यह विचार कार्यक्रम में पधारे विशिष्ट अतिथि ललित गर्ग ने कहे। वर्ष -2006 से अब तक 18 वर्षों में संस्था ने अनगिनत ऐसे स्कूलों को जीवन उपयोगी वस्तुओं से परिपूर्ण किया है।”आस”एन एसोसिएशन फाॅर सोशल वैलफेयर पंजी. चांदनी चौक के तत्वावधान में दिव्यांग,साधनहीन मूक-बधिर स्कूली बच्चों के उपयोग में आने वाली जीवनोपयोगी सामान का वितरण, हिन्दी भवन आडिटोरियम में धूमधाम से किया।

 

आस के प्रयास -2024 में संस्था के जांबाज पदाधिकारियों, सदस्यों व सहयोगियों ने मिलकर दिल्ली एनसीआर के परवरिश स्पेशल स्कूल, झिलमिल कालोनी, स्पर्श स्कूल, गाजियाबाद, अद्वितीय रिहैबिलिटेशन एंड लर्निंग सेंटर, सेक्टर -2, रोहिणी, प्रमिलाबाई चव्हाण बधिर विद्यालय, कड़कड़डूमा सहित कुल 9 स्कूलों के सैकड़ों विद्यार्थियों को लाभान्वित किया। मंच का संचालन विश्व प्रसिद्ध मंच संचालक अरविन्द शर्मा “विजय”ने भव्यता के साथ किया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में सरदार सुरजीत सिंह, चेयरपर्सन, माता जयकौर पब्लिक स्कूल, ललित गर्ग, अध्यक्ष,सुखी परिवार फाउंडेशन,नीरज गुप्ता,पराग जैन, रविन्द्र जैन, राकेश गुप्ता,संजय जैन, सुशील गोयल, रमाकांत तिवारी, सेवानिवृत्त प्रधानाचार्य, रविन्द्ग गडोदिया,दिलिप गर्ग, राजेश मल्होत्रा आदि थे। संस्था की श्रीमती ललिता प्रमोद गुप्ता, विकास जैन, रामकिशन अग्रवाल , राम भाई, पवन दीक्षित, मुकेश जैन, दुर्गेश माथुर, के.के.शाह, राहुल मित्तल ,संजय जैन, जगदीश प्रसाद अग्रवाल, देवेन्द्र सर्राफ, जयप्रकाश गोयल,मुनेश जैन, दीपिका बंसल,मानसी सरोगी आदि समाजसेवियों ने दिन रात मेहनत कर ये सामान ना केवल एकत्रित किया, बल्कि आज सदभाव के साथ उनको सौंप दिया है। इस अवसर पर मूक बधिर बच्चों ने अपने शिक्षक व प्रशिक्षित शिक्षिकाओं के माध्यम से सांस्कृतिक, धार्मिक व सामाजिक कार्यक्रमों की उत्कृष्ट प्रस्तुति देकर सभी का मन मोह लिया।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *