ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट में बदलाव की तैयारी में ब्रिटेन, लीक डॉक्युमेंट के जरिये स्टोरी करने वाले पत्रकारों को हो सकती है 14 साल की जेल

0
11
64 Views


ब्रिटेन के 42 साल के स्वास्थ्य मंत्री मैक हैंकॉक अपनी सहकर्मी को आफिस में किस करते हुए कैमरे में कैद हो गए। इसका वीडियो तेजी से वायरल होने लगा। ये घटना लंदन में स्वास्थ्य विभाग मुख्लाय में उनके कार्यलय के बाहर की है। सीसीटीवी फुटेज से वीडियो वायरल होने के बाद ब्रिटेन में बवाल मचा और हैंकॉक को अपने पद से इस्तीफा तक देना पड़ा। लेकिन अब ब्रिटेन में नया कानून आया है जिसके बाद लीक हुए फुटेज का इस्तेमाल करने वाले पत्रकार पर कार्रवाई हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना के डेल्टा स्वरूप को लेकर सचेत रहने की जरूरत, मौत के मामलों में आई काफी कमी: जो बाइडेन

ऐसे दौर में जब भारत समेत अन्य देशों में पेगासस स्पाईवेयर के जासूसी कांड को लेकर हंगामा मचा है उसी दौर में ब्रिटेन अपने कानूनों में बदलाव की तैयारी में लगा है। ब्रिटेन में ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट में बदलाव की तैयारी की जा रही है। इसके अंतर्गत लीक डॉक्युमेंट के जरिये स्टोरीज करने वाले पत्रकारों को 14 साल की जेल भी हो सकती है। इतना ही नहीं उनके साथ विदेशी जासूस जैसा बर्ताव भी किया जाएगा।  डेली मेल की रिपोर्ट के अनुसार विदेशी जासूसों पर नकेल कसने के लिए बनाए गए नए कानून के तहत दोषी पाए गए ऐसे पत्रकार जो लीक डॉक्युमेंट्स को हैंडल करते हैं, वे अपना बचाव भी नहीं कर पाएंगे।

कानून में बदलाव के पीछे सरकार की दलील

इंटरनेट के असर और खासकर क्विक डेटा ट्रांसफर टेक्नीक के इस दौर को ध्यान में रखते हुए 1989 में बनाए गए इस कानून में जरूरी बदलाव किए जा रहे हैं। वहीं सरकार ने कानून में बदलाव के पीछे ये दलील दी है कि जिस वक्त कानून ड्राफ्ट किए गए थे उस दौर में संचार के साधन बेहद ही सीमित थे। जबकि वर्तमान दौर में किसी भी प्रकार के डेटा के माध्यम से क्षण भर में किसी भी देश की सुरक्षा और संप्रभुता को चुनौती दी जा सकती है। ऐसे में इनमें संशोधन जरूरी है।  



Source link

Pulkit Chaturvedi
Senior journalist with over 13 years of experience covering various fields of Journalism.

Keen interests in politics, sports, music and bollywood.

Leave a Reply