धोनी के 100 करोड़ वाले मानहानि केस में आईपीएस अधिकारी को झटका, मद्रास हाई कोर्ट ने केस पर रोक लगाने से किया इंकार

0
1
56 Views


टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक,जस्टिस एन शेषशायी ने 2014 ने कथित तौर पर आईपीएल सट्टेबाजी और मैच फिक्सिंग के आरोपों से जुड़े एक मामले पर सुनवाई करते हुए कहा कि इस समय किसी भी तरह का आदेश देने से इसके आगे बढ़ने पर असर पड़ेगा।

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से जुड़ी एक खबर सुर्खियों में है। दरअसल महेंद्र सिंह धोनी ने एक आईपीएस ऑफिसर जी संपत कुमार पर दो करोड़ का मानहानि केस कर रखा है। इसी केस की सुनवाई गुरुवार को मद्रास हाईकोर्ट में हुई और अदालत ने संपत कुमार  कुछ अटका देते हुए उनकी उस याचिका को खारिज कर दिया  जिसमें उनके खिलाफ किए गए मानहानि केस पर रोक लगाने की मांग थी। यह मामला मैच फिक्सिंग से जुड़ा हुआ है और इस मामले में अदालत ने धोनी के केस को रिजेक्ट करने से मना कर दिया।

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक,जस्टिस एन शेषशायी ने 2014 ने कथित तौर पर आईपीएल सट्टेबाजी और मैच फिक्सिंग  के आरोपों से जुड़े एक मामले पर सुनवाई करते हुए कहा कि इस समय किसी भी तरह का आदेश देने से इसके आगे बढ़ने पर असर पड़ेगा। कोर्ट ने इसके बाद मानहानि केस पर सुनवाई पर रोक लगाने वाली याचिका खारिज कर दी। आपको बता दें कि धोनी ने 2014 में 100 करोड़ रुपए की मानहानि का केस किया था।

मामला क्या था

दरअसल धोनी ने 2014 में 100 करोड़ रुपए की मानहानि का केस किया था। धोनी की ओर से दायर याचिका में कहा गया था कि एक टीवी मीडिया कंपनी और कुछ लोगों ने कथित तौर पर उनकी छवि को खराब करने वाली खबरें चलाईं।  इन खबरों के मुताबिक धोनी आईपीएल मैचों में मैच में स्पॉट फिक्सिंग और सट्टेबाजी में शामिल थे। उन्होंने जी संपत कुमार समेत मानहानि के मामले में शामिल आरोपियों पर बयान देने और उन्हें छापने पर रोक लगाने की मांग की थी। जी संपत कुमार उस वक्त आईपीएल सट्टेबाजी मामले की जांच में शामिल रहे थे। 

 

महेंद्र सिंह धोनी को भारतीय क्रिकेट के सफलतम कप्तानों में से एक में गिना जाता है। वह भारतीय टीम के आक्रामक बल्लेबाज के तौर पर भी जाने जाते हैं। उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 में t20 विश्व कप, 2007-8 में कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज, 2011 में वनडे विश्व कप, और 2013 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी अपने नाम की। धोनी ने कई सम्मान भी प्राप्त किए हैं जिसमें वनडे प्लेयर ऑफ द ईयर,  राजीव गांधी खेल रत्न अवॉर्ड, उन्हें 2009 में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्मश्री से भी नवाजा गया।



Source link

Pulkit Chaturvedi
Senior journalist with over 13 years of experience covering various fields of Journalism.

Keen interests in politics, sports, music and bollywood.

Leave a Reply