एसआईपी अबेकस की अंकगणित जिनियस प्रतियोगिता को मिला बेहतरीन प्रतिसाद

0
22
205 Views

दिल्ली 2 फरवरी 2022 : हाल ही में राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित भारत की सबसे बड़ी ऑनलाइन अंकगणितीय प्रतियोगिता के छठे संस्करण को बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिली. प्रतियोगिता के छठे संस्करण का आयोजन भारत के सबसे बड़े कौशल विकास संस्थान, एसआईपी अबेकस द्वारा किया गया था।

एसआईपी एरिथमेटिक जीनियस कॉन्‍टेस्‍ट सबसे बड़ी अखिल भारतीय ऑनलाइन अरिथमेटिक प्रतियोगिता है। पूरे भारत के स्‍कूलों से कक्षा 2 से लेकर 5 तक के स्‍टूडेंट्स ने अंकगणित में अपनी योग्‍यता को साबित करने के लिये इस प्रतियोगिता में भाग लिया था। पिछले 2 वर्षों में महामारी के बावजूद इस प्रतियोगिता को रद्द या बाधित किये बिना ऑनलाइन संचालित किया गया है। इस प्रतियोगिता के ऑनलाइन संचालन के लिये एसआईपी एबेकस ने एक कस्‍टमाइज्‍ड ऑनलाइन बैकेंड प्रोसेस तैयार की थी, ताकि स्‍टूडेंट्स रजिस्‍टर हों, परीक्षाओं को स्‍टूडेंट्स के लिये शेड्यूल किया जाए, वे अभ्‍यास प्रश्‍नपत्रों से परीक्षाओं के लिये अभ्‍यास का मौका पाएं और निर्णायक परीक्षा में हिस्‍सा लें।

इस प्रतियोगिता में भारत के 20 राज्‍यों के 375 से ज्‍यादा शहरों के 1025 स्‍कूलों से रिकॉर्ड 95000 स्‍टूडेंट्स ने हिस्‍सा लिया था। यह प्रतियोगिता तीन राउंड्स में हुई थी। राउंड 1 में शहरी स्‍तर के 95000 स्‍टूडेंट्स ने भाग लिया; राउंड 2 में राज्‍य स्‍तर पर 20000 स्‍टूडेंट्स ने भाग लिया और राउंड 3 में 201 स्‍टूडेंट्स ने राष्‍ट्रीय स्‍तर पर भाग लिया। पुरस्‍कार वितरण समारोह 26 जनवरी 2022 को हुआ था। एसआईपी एरिथमेटिक जीनियस कॉन्‍टेस्‍ट 2021 में पूरे भारत के स्‍टूडेंट्स ने बड़ी संख्‍या में पुरस्‍कार जीते। 15 लाख रूपये से ज्‍यादा के नगद पुरस्‍कारों के साथ 25000 से ज्‍यादा पुरस्‍कार जीते गये। 200 से ज्‍यादा स्‍टूडेंट्स ने नगद पुरस्‍कार जीते, 750 स्‍टूडेंट्स ने ट्रॉफीज जीतीं और 25000 से ज्‍यादा स्‍टूडेंट्स ने पदक और प्रमाणपत्र जीते। पूरे भारत में हुए इस विशाल आयोजन में 2000 से ज्‍यादा एसआईपी एबेकस इंस्‍ट्रक्‍टर्स और एसआईपी एबेकस सेंटर हेड्स शामिल रहे। पुरस्‍कारों की घोषणा के ऑनलाइन कार्यक्रम में 350 से ज्‍यादा लोगों ने भाग लिया, जिनमें राष्‍ट्रीय विजेता, पेरेंट्स और एसआईपी टीम मेम्‍बर्स शामिल थे।

डीआरडीओ, रक्षा मंत्रालय के डायरेक्‍टर जनरल डॉ. टेसी थॉमस ने कहा की हम सभी के पास स्‍वाभाविक इंटेलिजेंस होता है। इंटेलिजेंस को प्रशिक्षण और परीक्षण के माध्‍यम से अभ्‍यास द्वारा बढ़ाया जा सकता है।” डॉ. टेसी थॉमस को लोकप्रिय आधार पर ‘मिसाइल वूमन ऑफ इंडिया’ कहा जाता है। वे एक विशिष्‍ट वैज्ञानिक और डीआरडीओ, रक्षा मंत्रालय में डायरेक्‍टर जनरल (एरोनॉटिकल सिस्‍टम्‍स) हैं। वे ऑनलाइन पुरस्‍कार वितरण समारोह में मुख्‍य अतिथि के तौर पर बोल रही थी। डॉ. टेसी थॉमस ने भाग लेने वाले सभी स्‍टूडेंट्स और विजेताओं को बधाई दी और कोर्सेस तथा ट्रेनिंग की पेशकश करने और प्रतियोगिता के संचालन के लिये एसआईपी की प्रशंसा की।

एसआईपी इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्‍टर दिनेश विक्‍टर ने कहा की हर साल एसआईपी एरिथमेटिक जीनियस कॉन्‍टेस्‍ट में भाग लेना स्‍कूलों और बच्‍चों के लिये निशुल्‍क होता है, क्‍योंकि इसका लक्ष्‍य पेरेंट्स और बच्‍चों को अंकगणित में रूचि लेने के लिये प्रोत्‍साहित करना है। और एबेकस प्रोग्राम के माध्‍यम से बच्‍चों की अकगणित में योग्‍यता बढ़ाने में मदद की जा सकती है।

Pulkit Chaturvedi
Senior journalist with over 13 years of experience covering various fields of Journalism.

Keen interests in politics, sports, music and bollywood.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here