August 15, 2020

गहलोत बोले- तीन दिन लोग जलते रहे प्रधानमंत्री मौन रहे; सोनिया गांधी की प्रेस कांफ्रेंस के 10 मिनट बाद ही ट्वीट किया- शांति बनाए रखें

192 Views

जयपुर. गुरुवार को मुख्यमंत्री ने राजस्थान विधानसभा में संबोधन के दौरान विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। वे बजट बहस पर अपना जवाब पेश कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि तीन दिन तक प्रधानमंत्री मौन रहे। आग लग रही है। लोग जलते रहे। अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं, कोई चिंता नहीं। जैसे ही सोनिया गांधी ने प्रेस कांफ्रेंस की। 10 मिनट में प्रधानमंत्री का ट्वीट आ गया कि शांति बनाए रखो। तीन दिन तक आप कहां छुप रहे थे।
इससे पहले गहलोत ने कहा कि आपने शांति मार्च को भी नहीं छोड़ा। जिस रूप में दिल्ली में आग लगी हुई। कई राज्यों में आग लगी हुई। यूपी में लोग मर गए। दिल्ली में मर गए। पता नहीं ये मुल्क किस दिशा में जाएगा। किस रूप में हालात बना रखे हैं मुल्क के। सबके लिए चिंता का विषय होना चाहिए। हम सब इंसान है। एक इंसान का मरना क्या होता है। एक पुलिस का हमारा कांस्टेबल मर गया तो क्या बीती राजस्थान वासियों पर। हिंदू हो या मुस्लिम हो कितने मारे जा रहे हैं। चुनाव में किस प्रकार नारे लगाए गए थे। गोली मारो गद्दारों को..। चुनाव का ध्रुवीकरण किया। उसका फॉल आउट है।

गहलोत ने कहा की राष्ट्र अध्यक्ष आए अमेरिका के। कभी आज तक इतिहास में हुआ है। आए भी गए भी। सब कुछ हुआ। कुछ भी हुआ। फायरिंग हो गई। जहां रुके थे वहां से 20 किलोमीटर पर फायरिंग चल रही है। अमेरिका के राष्ट्रपति आए और चले गए। देश के अंदर पूरा मुल्क चिंतित है। आगजनी और दंगे किस प्रकार रुकेंगे। एनआरसी, सीएए और एनपीआर इशू बन गया देश के अंदर। उस पर इन लोगों को चिंता नहीं करनी चाहिए। वहीं शांति मार्च की आप आलोचना करते हैं। शांति मार्च के दौरान अपने कहा इंटरनेट बंद कर दिया। अरे आपने तो पूरे देश का इंटरनेट बंद कर रखा है। पूरी दुनिया के अंदर भारत का इंटरनेट सबसे ज्यादा बंद रहता है। सोशल मीडिया का भी आपके नेता उपयोग कर रहे हैं। पूरे देश में हजारों लोग बैठा दिए हैं। जैसे ही हमारा कोई कमेंट आएगा। टूट पड़ेंगे सब लोग। दंगल का खेल चल रहा है चलने दो। टाइम आएगा तो आप सबकों मालुम पड़ जाएगा।

राजस्थान के 25 एमपी क्या कर रहे
गहलोत ने कहा कि राजस्थान से आपके 25 मेंबर्स और पार्लियामेंट हैं। क्या ये आपके 25 मेंबर कभी राजस्थान की पैरवी करते हैं। कभी ये बात करते हैं कि पहले वाले पैसे क्यों बंद कर दिए। रिफायनरी का काम जल्दी पूरा होना चाहिए। इसकी बात करते हैं। मैं चाहुंगा जैसे आपने रिफायनरी को प्रायोरिटी दी थी। अब संघर्ष क्यों नहीं कर रहे हो। मैं चाहुगां की आप लोग साथ आएं। 13 जिलों के भविष्य के सवाल है। हम सभी मिलकर जाएं। प्रधानमंत्री जब जयपुर आए थे। बाद में अजमेर आए थे। दोनों जगह घोषणा हुई थी कि इसे राष्ट्रिय परियोजना घोषित करूंगा। आपका फर्ज नहीं बनता। सरकार आपकी है। मिलकर प्रयास करें। प्रधानमंत्री को मनाएं। हमारे लोकसभा अध्यक्ष वो भी नोट कर सकते हैं।

बजरी माफिया 5 करोड़ प्रति माह किसको दे रहा
गहलोत बोले कि बजरी का जंजाल शुरू क्यों हुआ। एक साल में किसी बात से दुखी हूं तो बजरी से। जनता लुट रही है। 25 हजार का ट्रक 60 से 70 हजार में मिल रहा है। सुप्रीम कोर्ट में केस चल रहा है। 5 करोड़ रुपए प्रतिमाह किस को दे रहे हैं इसकी जांच होनी चाहिए।

Leave a Reply

WhatsApp chat
%d bloggers like this: