पीपीएफ में जमा है आपका पैसा तो सरकार ने दी ऐसी जानकारी, सुनकर आप भी हो जाएंगे खुश; बहुत बड़ा लाभ!

0

 

नई दिल्ली

केंद्र सरकार की ओर से इलेक्ट्रानिकम वर्ग के लये पुस्तिका प्रकार की संचलन जारी की जाती है। इन पैसों को नया बनाने पर आपको अच्छे से अच्छे रत्न के साथ-साथ रेजिस्टेंस की भी सलाह मिलती है। आप भी यहां मनी लॉन्ड्रग टर्म में अच्छे रेट शीटर्न पा सकते हैं। पेज दस्तावेज़ प्रोवडेंट फंड यी पी एफ़ भी इनमॅन में से एक है। अगर आपने भी पीआईएफ में निवेश किया है तो आपको हर महीने की 5 तारीख का रिव्यू जरूर रखना चाहिए। जी हां, 5 तारीख को लिस्टिंग में निवेश करने पर आपको भारी मुनाफा मिलेगा। केंद्र की तरफ से भी इस बारे में जानकारी दी गई है।

15 तारीख तक पैसे जमा करना जरूरी

अगर आप पीपीएफ में निवेश करते हैं तो आपको यह पता होना चाहिए कि महीने की 15 तारीख तक पैसा जमा होना जरूरी है। अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो उस महीने की रुचि आपको नहीं मिलेगी। आप पीआईपीएफ़ में रिज़ॉर्ट रिज़ॉर्ट से फ़्लोरिडा लाख रुपये तक जमा कर सकते हैं। अगर आप 20 तारीख के करीब पीप पॉकेट में पैसा जमा करते हैं तो समझ लीजिए कि उस महीने का पैसा आपको नहीं मिलेगा। अगर आप 5 या इससे पहले पैसा जमा कराते हैं तो एक बार और भी पैसा जमा कर लीजिएगा।

पीऑफिस की ब्याज दर

मंत्रालय की ओर से जून 2020 में समीक्षा के आधार पर पीआईएफई पर फिलहाल 7.1 से शुरू होकर 18 जनवरी 2019 को जारी किया गया। मंत्रालय ने लंबे समय से पीआईपी की बिटियाज दर में कोई बदलाव नहीं किया है। हर महीने की 5 तारीख से लेकर महीने की अंतिम तारीख के बीच में बताएं कि आपको कौन सी न्यूनतम राशि मिलती है, उस पर एक ही महीने में शामिल हो जाते हैं। 5 तारीख के बाद अगर आप पैसा जमा करते हैं तो उस पर अगले महीने ब्याज लगेगा।

खाता खोले जा सकते हैं

यदि आप याद करते हैं कि शीटल प्लाइक प्रोव पार्टडेंट फंड का खाता धारक होना चाहते हैं तो आपको बताएं कि आप एक निश्चित समय पर एक ही बार में खाता धारक बना सकते हैं। अगर आप पहले से दो खाता संचलन बंद कर रहे हैं तो 12 दिसंबर 2019 के अनुसार सरकार की तरफ से ली गई जजमेंट के बाद एक से ज्यादा पीपीएफ खाता बंद कर दिया जाएगा। साथ ही इस तरह के अकाउंट पर कोई भी दिलचस्पी नहीं देगा। इसके अलावा सरकार की तरफ से कई पी.पी.

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *