लोकसभा चुनाव में इस्तेमाल होने वाली ईवीएम और वीवीपेट मशीनों की फर्स्ट लेवल चैकिंग सुनिश्चित करवाए

0

पार्टी हर बूथ पर कांग्रेस संगठन को मजबूती प्रदान करने के लिए बीएलए-2 बनाने के काम को अंजाम देगी। – चौ0 अनिल कुमार

 

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के नेतृत्व में बी.एल.ए.-1, 11 जिला प्रतिनिधियों और जिला अध्यक्षों की बैठक ली गई जिसमें सभी को निर्देश दिया गया लोकसभा चुनावों से दिल्ली के सभी जिला चुनाव कार्यालयों में जो ईवीएम और वीवीपेट मशीनों की फर्स्ट लेवल चैकिंग अपने सामने करवानी है और यह जानकारी भी एकत्रित करनी है कि ईवीएम और वीवीपैट मशीनों के सीरियल नंबर, मेक, निर्माण कंपनी सहित आदि विवरण प्राप्त करना है। बैठक में बी.एल.ए.-1 को जिम्मेदारी दी गई है कि यह मशीने इसके पहले कहां उपयोग में आई थी, कहां से लाई गई और अब कहां रखी गई है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग एम-3 ईवीएम नई मशीने लेकर आई है उस पर कोई जानकारी नही दी है और चुनाव आयोग की प्रतिक्रिया साफ नही है।

बैठक में प्रदेश अध्यक्ष चौ0 अनिल कुमार के अलावा पूर्व विधायक विजय लोचव, बूथ मेनेजमेंट कमेटी चेयरमैन राजेश गर्ग, लीगल व मानव अधिकार विभाग के चेयरमैन एडवोकेट सुनील कुमार, अ0भा0क0कमेटी से एडवोकेट अलीजो जोसेफ, रमेश सब्बरवाल, कृष्ण मुरारी जाटव, हरी दत शर्मा, जिला अध्यक्ष राजेश चौहान, सतबीर शर्मा, रितू हिसं चौहान. राम नरेश मुदगिल और पंकज मेहता मुख्य रुप से मौजूद थे।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि ईवीएम और वीवीपेट मशीनों की फर्स्ट लेवल चैकिंग के लिए हमने दिल्ली के 11 एमडीएम को पत्र लिख कर मांग की गई थी, उनके द्वारा हमारी मांग नही मानने पर प्रदेश कांग्रेस ने मुख्य चुनाव अधिकारी डा0 रनबीर सिंह से मिलकर अपनी मांग रखी थी। उन्होंने कहा कि चुनाव कार्यालय में आयोजित बैठकों में बीएलए द्वारा सुझावों व उठाई गई मांगों पर ध्यान नही दिया जाता है, सिर्फ चाय पिलाकर राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों को टाल दिया जाता है। उन्होंने कहा कि हमने प्रत्येक जिला एसडीएम आफिस से सम्पर्क बनाने और ईवीएम और वीवीपेट मशीनों के चैकिंग के लिए प्रत्येक विधानसभा में बीएलए-1 के साथ 11 जिला प्रतिनिधि भी बनाऐ है ताकि चुनाव कार्यालय में एसडीएम के साथ समन्वय बनाकर ईवीएम और वीवीपेट मशीनों की फर्स्ट लेवल चैकिंग का काम हो सके। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनावों की तैयारियों के लिए हर बूथ पर बीएलए-2 भी बनाने की प्रक्रिया जारी है।

चौ0 अनिल कुमार ने कहा कि लोकतांत्रिक प्रक्रिया में चुनाव आयोग की यह जिम्मेदारी है कि वो  सभी राजनीतिक दलों का विश्वास हासिल करके और स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से चुनाव कराए व इस्तेमाल होने वाली मशीनों की एफएलसी की चैकिंग व निगरानी में पारदर्शिता होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी जिला प्रतिनिधि और बीएलए-1 जिला चुनाव अधिकारियों द्वारा बुलाई गई बैठकों में पार्टी का पक्ष मजबूती से रखे व बैठक में लिए गए निर्णय/कार्यवाही को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से अवगत कराऐंगे।

बीएलए-1 सभी विधानसभाओं के अंतर्गत इस्तेमाल होने वाली ईवीएम वीवीपेट मशीनों की एफ.एल.सी. करवाऐंगे ताकि आने वाले लोकसभा चुनावों में किसी भी प्रकार की धोखाधड़ी या मशीनों के एक पक्ष में दुरुपयोग की शिकायत न आए। उन्होंने कहा कि एफएलसी चैकिंग की प्रक्रिया में गड़बड़ी व समय पर सूचना नही देने के कारण कांग्रेस पार्टी के प्रतिनिधियों ने हिस्सा नही लिया था, जिसकी शिकायत हमने मुख्य चुनाव अधिकारी को की थी।

चौ0 अनिल कुमार ने बैठक में सभी बीएलए, जिला अध्यक्षों और जिला प्रतिनिधियों को कहा कि ब्लाक अध्यक्ष के साथ मिलकर संगठन के परिसीमन पर भी अपनी राय दे, क्योंकि प्रत्येक ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अंतर्गत दो मडलम और मडलम के अंतर्गत 2-2 सेक्टर का गठन करना है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनावों के मद्दे नजर संगठन को जमीनी स्तर पर मजबूत बनाने के लिए इस्तेमाल कांग्रेस कार्यकर्ता दिल्ली के लोगों से सीधा सम्पर्क साधकर हर वर्ग, समुदाय को कांग्रेस पार्टी के आदर्शों और विचारधारा से जोडेंगे।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *