डॉ मंजीत सिंह ने चंदन गोविंदपुरी के जीवन काव्य रचनाओं के बारे में विस्तार से बताया

0

पंजाबी की कवित्री रणजीत कौर ने चानन गोविंदपुरी की उपलब्धियां को कविता के माध्यम से बयां किया l
गीत ग़ज़ल का कार्यक्रम में चंदन गोविंदपुरी के लिखे गीत गजलों को अपनी धुन तैयार कर भूपेंद्र परमार एवं रूपाली सचदेवा ने अपनी मधुर आवाज में पेश किया l
यह दोनों कलाकार फिल्मों में गा चुके हैं lउनके कई गीतों के एल्बम्स आई हैं चंदन गोविंदपुरी के कई गीत आशा सिंह मस्ताना ,सुरेंद्र कौर ,ऊषा सेठ, नीलम साहनीऔर कमल हंस पाल ने गायन किए हैं l यह गीत रेडियो से पिछले 40 वर्षों से लगातार प्रसारित हो रहे हैं lइन गीतों को भूपेंद्र परमार और रूपाली सचदेवा ने उन्हें आवाज में पेश किया

संगीत के कार्यक्रम की कंपेयरिंग रेडियो एनाउंसर हरजीत कौर ने की l
चंदन गोविंदपुरी का लिखा पंजाबी का मशहूर गीत “लाई बेकदरा नाल यारी टूट गई तड़क करके “जब कलाकारों ने गाया तो हाल तालिया से गूंज उठा l संगीत के इस प्रोग्राम ने धूम मचा दीl
चंदन गोविंदपुरी ट्रस्ट की ओर से अवॉर्ड शो का आयोजन हुआ जिसमें नेशनल बुक शॉप के प्रकाशक परमजीत सिंह को ₹11000 नकद शॉल मोमेंटो और फूल देकर सम्मानित किया गया इसी तरह रेडियो की पंजाबी एनाउंसर हरजीत कौर को भी अवार्ड देकर सम्मानित किया गया l जो पिछले 25 वर्षों से रेडियो पर अपनी आवाज का जादू बिखेर रही हैं l
पंजाबी के दलित साहित्यकार बलबीर माधोपुरी एवं उर्दू के मशहूर शायर सीमा सुल्तानपुरी को भी अवार्ड से सम्मानित किया गया
कार्यक्रम में फिल्म प्रोड्यूसर एवं निदेशक एस केसर बॉम्बे के संगीतकार जसपाल मनी गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के मेंबर विक्की मां सहित कई कई साहित्यकार कलाकार मौजूद थे l
यह सम्मान चंदन गोविंदपुरी के सुपुत्र बी के पूरी एवं सुपुत्री उर्मिल प्रकाश की ओर से प्रदान किए गए

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *