ज्ञान व भक्ति के मूर्तिमान स्वरूप थे स्व. वासुदेव कृष्ण चतुर्वेदी : जिलाधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह आईएएस

0

-डॉ. गोपाल चतुर्वेदी

वृन्दावन।चैतन्य विहार-पापड़ी चौराहा स्थित भक्ति मन्दिर में मंदिर के संस्थापक, उत्तर प्रदेश रत्न, सप्ताचार्य, महामहोपाध्याय डॉ. वासुदेव कृष्ण चतुर्वेदी की प्रतिमा का अनावरण जिलाधिकारी मथुरा शैलेन्द्र कुमार सिंह आईएएस के कर कमलों द्वारा अत्यंत धूमधाम एवं हर्षोल्लास के कई उच्च प्रशासनिक अधिकारियों, प्रमुख समाजसेवियों एवं गणमान्य नागरिकों की उपस्थिति में किया गया।
मथुरा के जिलाधिकारी शैलेन्द्र कुमार सिंह आईएएस ने कहा कि स्व. डॉ. वासुदेव कृष्ण चतुर्वेदी ज्ञान व भक्ति के मूर्तिमान स्वरूप थे।केंद्र सरकार, उत्तर प्रदेश शासन एवं जिला प्रशासन से उन्हें अनेकों सम्मान प्रदान किए गए।उन्होंने सदैव से ही जनहित मे चलाई जा रही जिला प्रशासन की योजनाओं में पूर्ण सहयोग प्रदान किया।
उत्तर प्रदेश जलनिगम के पूर्व चेयरमैन गोपबन्धु पटनायक (आईएएस) ने कहा कि स्व. डॉ. वासुदेव कृष्ण चतुर्वेदी ने भक्ति महारानी के मन्दिर की स्थापना कर मानव मात्र को भक्ति मार्ग की ओर अग्रसर करने का जो अभूतपूर्व कार्य किया,वो अविस्मरणीय है।
वरिष्ठ साहित्यकार डॉ. गोपाल चतुर्वेदी एवं प्रमुख समाजसेवी पण्डित बिहारीलाल वशिष्ठ ने कहा कि स्व. डॉ. वासुदेव कृष्ण चतुर्वेदी संस्कृत के प्रकांड विद्वान थे।उन्होंने सात विषयों में स्नातकोत्तर किया था।इसीलिए उन्हें सप्ताचार्य की उपाधि से विभूषित किया गया था।
भक्ति मन्दिर के सेवायत हरदेव कृष्ण चतुर्वेदी एवं डॉ. सहदेव कृष्ण चतुर्वेदी ने कहा कि हमारे पूज्य पिताश्री एवं भक्ति मन्दिर के संस्थापक स्व. डॉ. वासुदेव कृष्ण चतुर्वेदी की अध्यात्म जगत, शिक्षा एवं समाजसेवा के क्षेत्र में अनेकों देनें हैं।धार्मिक क्षेत्र के शंकराचार्य, महामंडलेश्वर, महंत, विद्वान, राजनेता एवं प्रशासनिक अधिकारी उनका सम्मान करते थे।
इस अवसर पर उमा शक्ति पीठाधीश्वर स्वामी रामदेवानंद सरस्वती महाराज, डॉ. केशवाचार्य महाराज, उत्तर प्रदेश के पूर्व उच्च शिक्षामंत्री पण्डित श्याम सुंदर शर्मा, पूर्व विधायक प्रदीप माथुर, जिला विद्यालय निरीक्षक भास्कर मिश्रा, छत्तीसगढ़ शासन के पूर्व उप-संचालक (सूचना एवं जनसंपर्क) टी.पी. त्रिपाठी, माधव कृष्ण चतुर्वेदी, आशीष चतुर्वेदी, नारायण चतुर्वेदी, डॉ. राधाकांत शर्मा, ध्रुव कृष्ण चतुर्वेदी, वेदान्त कृष्ण चतुर्वेदी, सचिन वर्मा, देवेन्द्र चतुर्वेदी, प्रदीप चतुर्वेदी एवं अनिल चतुर्वेदी आदि के अलावा विभिन्न क्षेत्रों के तमाम गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *