FD में निवेश पर अब ज्यादा रिटर्न, जानें कौन सा बैंक दे रहा है कितना इंटरेस्ट

0

[amazon_link asins=’B077Q44DKY’ template=’ProductCarousel’ store=’india-1′ marketplace=’IN’ link_id=’5d6f6960-f6eb-11e8-9790-276a7f83a5f5′]नयी दिल्ली। बैंकों ने नकदी संकट के बीच जमा रकम पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी की है। भारतीय स्टेट बैंक, पीएनबी सहित निजी क्षेत्र के एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई, एक्सिस बैंक आदि ने भी सावधि जमा (फिक्स्ड डिपॉजिट) पर मिलने वाली ब्याज दरों में 50 आधार अंकों तक की बढ़ोतरी की है। एफडी पर ब्याज दर में बढ़ोतरी से एक बार फिर से यह छोटे निवेशकों के लिए सुरक्षित और अधिक रिटर्न पाने का निवेश माध्यम बन गया है। एफडी पर बढ़ी दरों में कहां निवेश करना अधिक फायदेमंद होगा पर हिंदुस्तान टीम की रिपोर्ट।

इन तीन बैंकों के एफडी में निवेश का मौका
एसबीआई ने 0.10% तक बढ़ाईं दरें: भारतीय स्टेट बैंक ने एफडी पर ब्याज दरों में 0.05 से 0.10% तक इजाफा किया है। एक से दो साल की एफडी पर 6.7% की बजाय 6.8% ब्याज मिलेगा। वहीं दो से तीन साल के जमा पर 6.75% की बजाय 6.8% ब्याज मिलेगा।
एचडीएफसी बैंक ने 0.50% तक की बढ़ोतरी: एचडीएफसी बैंक ने समान्य से वरिष्ठ नागरिकों के एफडी के ब्याज दरों में 0.05% से लेकर 0.50% की बढ़ोतरी की है। एक साल की अवधि के लिए एफडी पर अब 7.3% ब्याज मिलेगा। पहले यह दर 7.25% थी। वहीं  3 से 5 साल के लिए दर बढ़ाकर 7.25% कर दी गई है। पहले यह दर 7.1% थी।
आईसीआईसीआई ने 0.25% तक की बढ़ोतरी की: ईसीआईसीआई ने एफडी पर ब्याज दरों में 0.25% तक की बढ़ोतरी की है। बैंक ने दो से अधिक और तीन साल तक की अवधि के लिए 1 करोड़ रुपये तक के जमा पर 7.50% की दर से ब्याज देगा। पहले इस अवधि के लिए ब्याज दर 7.25% थीं।

कंपनी एफडी पर ज्यादा ब्याज लेकिन जोखिम अधिक
निवेशकों को आकर्षित करने के लिए निजी कंपनियां बैंक और अन्य वित्तीय संस्थानों से ज्यादा ब्याज देती हैं। श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस, दीवान हाउसिंग फाइनेंस, महिंद्रा एंड महिंद्रा फाइनेंशियल सर्विसेज जैसी कंपनियां पांच साल की अवधि वाली एफडी पर 9.25 फीसदी का ब्याज दे रही हैं, जो बैंकों के ब्याज से 1.5 फीसदी ज्यादा है। लेकिन, यह सलाह दी जाती कि आप इस तरह के जमा के लिए क्रेडिट रेटिंग भी देखें और अच्छी रेटिंग वाली कंपनियों के एफडी का ही चयन करें। अक्सर आप देखेंगे कि जो कंपनियां अधिक ब्याज दर ऑफर कर रही हैं, उनमें से अधिकतर कंपनियां वित्तीय परेशानी से जूझ रही होती हैं। वे कंपनियां अधिक ब्याज दर देकर अपनी स्कीम में पैसा लगाने वाले निवेशकों के जोखिम को पाटने की कोशिश करती हैं। इसलिए इसके निवेश पर जोखिम अधिक होता है।

स्माल फाइनेंस बैंक में बंपर रिटर्न
हाल ही में शुरू हुए कई स्मॉल फाइनेंस बैंक सबसे ज्यादा बैंक एफडी पर ब्याज दे रहें है। वहीं गैर बैकिंग वित्तीय कंपनियां (एनबीएफसी) भी इस दौड़ में आगे हैं। यानी आप इन बैंकों में एफडी कर सरकारी और प्राइवेट बैंकों के मुकाबले अधिक ब्याज अपने निवेश पर पा सकते हैं।

टैक्स बचाने का भी मौका
चालू वित्त वर्ष के लिए टैक्स बचाने के लिए अभी से निवेश की योजना बनना बेहतर होगा। अंतिम वक्त में लिया गया फैसला आपके वित्तीय गोल पाने में रुकावट डालता है। साथ ही टैक्स बचत का लाभ भी नहीं मिलता है। आयकर की धारा 80सी के तहत आप 1.5 लाख रुपये तक एफडी में निवेश कर टैक्स छूट पा सकते हैं। हालांकि, इसके लिए एफडी की अवधि पांच साल या इससे अधिक होनी चाहिए। इससे कम अवधि की एफडी में निवेश पर टैक्स छूट का लाभ नहीं मिलता है।

एफडी करवाने के फायदे
किसी बैंक में एफडी कराने की सबसे पहला फायदा यह होता है कि यह निवेश पूरी तरह से जोखिम रहित होता है। एफडी की समय अवधि समाप्त होने के बाद निवेशक को पूरी राशि ब्याज सहित वापस मिल जाती है। साथ ही बाजार के उतार-चढ़ाव का इस पर कोई असर नहीं पड़ता। वहीं वरिष्ठ नागरिकों के लिए ब्याज दर कुछ अधिक होती है।

ये जानकारियां जरूरी
एफडी पर मिलने वाला ब्याज कर के दायरे में आता है, लिहाजा 10 हजार रुपये सालाना से अधिक की ब्याज रकम पर बैंक आपके आयकर स्लैब के हिसाब से कटौती कर सकते हैं। विश्लेषकों का कहना है कि किसी भी व्यक्ति को एकसाथ बड़ी राशि का एक सावधि जमा खाता नहीं खोलना चाहिए, बल्कि 4-5 एफडी खाते खोलने चाहिए। ऐसा करने से उसके पार नकदी की कमी नहीं होगी। वहीं परिपक्वता पूरी होने से पहले उसे तोड़ने पर ब्याज का नुकसान होता है।

एफडी में निवेश की गई राशि पर बैंक आपको बिना किसी जोखिम के ब्याज के रूप में एक निश्चित रिटर्न देते हैं। जितनी अवधि के लिए पैसों का निवेश किया है, उसके बीच बाजार या बैंक की हालात कैसी भी हो आपके ब्याज रिटर्न पर कोई असर नहीं पड़ता है। बैंक एफडी कम से कम जोखिम के साथ निश्चित रिटर्न चाहने वाले छोटे निवेशकों के लिए आदर्श साधन है।

स्मॉल फाइनेंस बैंक समय ब्याज दर% (समान्य) वरिष्ठ नागरिक
फिनकेयर स्मॉल फाइनेंस बैंक 24 महीने से 36 महीना 9.00 9.50
ईएसएफ स्मॉल फाइनेंस बैंक  365 दिन से 727 दिन 8.75 9.25
सूर्योदय स्मॉल फाइनेंस बैंक 950   दिन 9.00 9.50
उत्कर्ष स्मॉल फाइनेंस बैंक 456 दिन से दो साल से कम 9.00 9.50
उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक 799 दिन 8.50 9.00

देश के बड़े बैंक

बैंक का नाम समय ब्याज दर% (समान्य) वरिष्ठ नागरिक
भारतीय स्टेट बैंक 5 साल से 10 साल तक 6.85 7.35
एचडीएफसी बैंक 2 साल से 3 साल तक 7.40 7.90
एक्सिस बैंक 2 साल से 36 महीने से कम 7.50 8.00
आईसीआईसीआई बैंक 2 साल से 3 साल तक 7.50 8.00

 

कंपनी एफडी समय ब्याज दर
बजाज फाइनेंस 3 से 5 साल 8.75 फीसदी
डीएचएफएल 5 साल तक 8.25 फीसदी
श्रीराम ट्रांसपोर्ट 5 साल तक 9.25 फीसदी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *