400 सीट छोडि़ए, इन्हें 150 भी नहीं मिलेंगी : राहुल गांधी

0

मप्र में लोकसभा चुनाव के तीसरे चरण में 9 संसदीय सीटों पर मंगलवार को मतदान है। इसी बीच चुनाव से एक दिन पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी प्रदेश के दौरे पर पहुंचे। जहां उन्होंने अलीराजपुर के जोबट और खरगोन के सेगांव में राहुल गांधी ने भाजपा पर जमकर हमला बोला। उन्हों ने कहा कि ये चुनाव संविधान को बचाने का चुनाव है। भाजपा और आरएसएस इसे मिटाने की कोशिश कर रहे हैं। इसलिए उन्होंने 400 पार का नारा दिया है। 400 सीट तो छोडि़ए उनको 150 भी नहीं मिलेंगी। जोबट की सभा में नेता प्रतिपक्ष उमंग सिंघार ने कहा- पीएम कल आने वाले हैं। उनसे पूछना कि 2 करोड़ युवा बेरोजगारों को नौकरियां कब मिलेंगी। बता दें, भूरिया का भाजपा की अनीता चौहान से मुकाबला है। 90 अफसर चला रहे सरकार राहुल गांधी ने कहा कि आदिवासी इस जंगल और जमीन के पहले मालिक हैं। आपको ये हक सबसे पहले मिलना चाहिए। हमने आपको पेसा कानून दिया। हम जो भी आपके लिए करते हैं, जैसे ही इनकी सरकार आती है, ये उसे रिवर्स करते हैं। हिंदुस्तान की सरकार 90 अफसर चला रहे। इनमें आदिवासी एक ही अफसर है। बजट में 100 रुपए का निर्णय लिया जाता है तो आदिवासी अफसर 10 पैसे का निर्णय लेते हैं। राहुल बोले कि प्रेस वाले आदिवासियों की बात कभी नहीं करते। ये अंबानी की शादी दिखा देंगे। बॉलीवुड और नाच गाना दिखा देंगे। मगर आपकी बच्चियों से बलात्कार होता है। आपकी जमीन छीनी जाती है तो मीडिया में आपके बारे में कभी नहीं कहा जाता है। इसका कारण है मीडिया में इनकी बड़ी-बड़ी कंपनियों में आदिवासी एक नहीं मिलेगा। मोदी ने अरबपतियों को पैसा दिया प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने अरबपतियों को पैसा दिया, उनका कर्ज माफ किया, इसलिएज् हमने मन बना लिया है कि अगर वे अरबपतियों को पैसा दे सकते हैं तो हम गरीब सामान्य वर्ग, दलितों, आदिवासियों को पैसा दे सकते हैं। नरेंद्र मोदी ने चंद लोगों को अरबपति बनाया है, हम करोड़ों लखपति बनाने जा रहे हैं। एक महिला को सालाना 1 लाख रुपए देंगे कांग्रेस नेता ने कहा कि हम हर गरीब परिवार की एक महिला को सालाना 1 लाख रुपए देंगे, किसानों को रूस्क्क मिलेगी और उनका कर्ज माफ होगा। कांग्रेस ने आपको जमीन अधिग्रहण बिल, वन अधिकार अधिनियम, पेसा कानून दिया। हम जो भी करते हैं, आपके हक के लिए करते हैं। लेकिन जैसे ही क्चछ्वक्क की सरकार आती है, वह उल्टा कर देती है। जातिगत जनगणना कराएंगे राहुल गांधी ने कहा कि आज देश की बड़ी-बड़ी कंपनियों, अस्पतालों, स्कूलों को चलाने में आदिवासी वर्ग के लोग दिखाई नहीं देंगे, क्योंकि देश में आपकी भागीदारी नहीं है, इसलिए हमने निर्णय लिया है कि हम जातिगत जनगणना कराएंगे, जिससे देश में आपकी भागीदारी तय हो सके। आदिवासी इस जंगल और जमीन के पहले मालिक हैं राहुल बोले जाति जनगणना से आपको पता लग जाएगा कि आपकी आबादी कितनी है और देश की संस्थाओं में भागीदारी कितनी है। आदिवासी इस जंगल और जमीन के पहले मालिक हैं। आपको ये हक सबसे पहले मिलना चाहिए। हमने आपको पेसा कानून दिया। हम जो भी आपके लिए करते हैं, जैसे ही इनकी सरकार आती है, ये उसे रिवर्स करते हैं। इकॉनोमिक सर्वे होगा और सबको पता लग जाएगा कि इतनी आबादी है और इतना धन उनके पास है, इतनी संस्थाओं में उनके लोग हैं। हिंदुस्तान की सरकार 90 अफसर चला रहे। इनमें आदिवासी एक ही अफसर है। बजट में 100 रुपए का निर्णय लिया जाता है तो आदिवासी अफसर 10 पैसे का निर्णय लेते हैं। पब्लिक सेक्टर हो या रजिर्वेशन हो, जो भी आदिवासियों को पिछड़ों को मिलता है संविधान से मिलता है।

About Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *